दीनदयाल वनांचल सेवा योजना मध्यप्रदेश

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वीरवार को भोपाल में एक योजना की शरुआत की जिसका नाम दीनदयाल वनांचल सेवा योजना रखा गया, इस योजना की शरुआत करते हुए होनहोने कहा कि कुपोषण, अशिक्षा और स्वास्थ्य संबंधी जितनी भी समस्याए है उन पर सरे विभाग मिल कर काम करे इस योनजा की शरुआत वन विभाग में काम कर रहे वनांचल वनकर्मियों के सहयोग और वहां रह रहे वनवासियो के स्वास्थ्य और शिक्षा के स्तर को आगे बढ़ने के लिए किया गया है।

पढ़े : Deendayal Vananchal Seva Yojana in English

इस योजना में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया की इस योजना में कुपोषण और पढ़ाई की समस्या को कम करने के लिए काम किया जायेगा, उन्होंने यह भी कहा की इन समस्याओ के विकास के लिए बहुत सोचने की जरूरत है अगर लोग इस योजना के अनुसार काम करेगी तो इससे वह के लोगो को बहुत एच नतीजा मिलेगा।

दीनदयाल वनांचल सेवा में वन क्षेत्रों के 5 किलोमीटर के अंदर आने बाले गावो तथा उसके अंदर रहने बाले लोगो के लिए है।

दीनदयाल वनांचल सेवा योजना के उद्देश्य :-

  • दीनदयाल वनांचल सेवा योजना का प्रमुख उद्देश्य वहां के लोगो को शिक्षित बनाना है।
  • इस योजना में स्वास्थ्य के ऊपर बहुत धयान रखना है। क्योकि वनवासियो को स्वास्थ्य के ऊपर बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ता है।
  • इस योजना में यह भी सोचा गया है कि वहां के लोगो को ताजा फल और सब्जी मिल सके जिससे की उनका स्वास्थ्य ठीक रहे।
  • इस योजना में वनों के विकास के बारे में सोचा गया है।

दीनदयाल वनांचल सेवा योजना के लाभ :-

  • इस योजना के अंतर्गत मध्य प्रदेश के 24 हजार गावो को लाभ मिलेगा।
  • इस योजना में कुपोषण और पढ़ाई की समस्या को दूर करने के लिए काम किया जायेगा जिससे के वहां के लोगो को बहुत लाभ होगा।
  • इस योजना के अंतर्गत सरकार वहां के लोगो को फल और सब्जियों के पौधे देगी जिससे की वहां के लोगो को तजा फल और सब्जिया मिल सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *