मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक रोजगार ऋण योजना

बिहार के मुख्यमंत्री डॉ. अब्दुल गफूर ने एक योजना की घोषणा की जिसका नाम मुख्यमंत्री
अल्पसंख्यक रोजगार ऋण योजना रखा जिसमे सरकार अल्पसंख्यक लोगो को रोजगार ऋण प्रदान करेगी उनका कहना हैं कि इस समुदाय के लोगो इस योजना का अधिक से अधिक लाभ उठाना चाहिए जिससे कि वो अपना आर्थिक विकास कर सके इस योजना में मुख्यमंत्री डॉ. अब्दुल गफूर ने एक करोड़ 89 लाख 50 हजार रुपये का चेक वितरण किया। ये राशि वह के अल्पसंख्यक बेरोजगार युवको और युवतियों को रोजगार ऋण के रूप में देंगे इसमें अल्पसंख्यक समुदाय, मुस्लिम, सिख, ईसाई, बौद्ध और जैन के युवको और युवतियों को ये ऋण दिया जायेगा।
इस योजना में मंत्री डॉ.गफूर ने कहा कि ये योजना अल्पसंख्यकों के लिए बहुत फायदेमंद है इस योजना उन्होने यह भी कहा के ये ऋण की राशि उनको वापिस करना आवश्यक है क्योकि इस राशि से भविष्य में अल्पसंख्यक लोगो को ऋण देके उनको भी लाभ दिया जाये इस योजना सम्हारो में जिलाधिकारी बाला मुरूगन डी ने बताया की यह योजना 18 साल से 50 साल तक के अल्पसंख्यक युवको और युवतियो को शामिल किया गया है और उनके परिवार की वार्षिक आय 1 लाख से कम होने चाहिए ऐसे योवक और युवतियो को सरकार 5 लाख तक की राशि ऋण के रूप में दी जाएगी जो की 5% वार्षिक ब्याज की दर पर दिया जायेगा ये राशि उनको पांच साल में 20 किस्तो में वापिस करनी होगी।

मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक रोजगार ऋण योजना के लिए योग्यता :-

  • अल्पशंख्यक युवक या युवती की आयु 18 से 50 वर्ष के बीच में होनी चाहिए।
  • उसके अपरिवार की वार्षिक आय एक लाख से कम होनी चाहिए।

अल्पसंख्यक रोजगार ऋण योजना के लाभ :-

  • आवेदक को जो ऋण की राशि दी जाएगी उसपे उसे 5% तक का ऋण लिया जायेगा जो की बहुत ही कम है।
  • इस योजना में आवेदक को 5 लाख तक की राशि का ऋण दिया जायेगा।

अल्पसंख्यक रोजगार ऋण योजना का लक्ष्य :-

  • इस साल 2015-2016 में राज्य सरकार को 25 करोड़ की राशि मिली है और उस राशि को उन्होंने 2500 अल्पसंख्यको को देना का लक्ष्य रखा है।

One thought on “मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक रोजगार ऋण योजना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *