प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना की पूरी जानकारी

इस योजना की शरुआत गावो के विकास के लिए की गयी इस योजना की अवधि पुरे 3 साल की है  प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना में 45 करोड़ रुपए निवेश किये जायेगे इसमें से हर गांव के नाम पुरे  25 लाख रूपए और और राज्य सरकर द्वारा पुरे 20 लाख रूपए दिए जायेगे।

इस योजना में उन गावो की सूचि बनाई जाएगी जिनका विकास होना आवश्यक है और सूचि बनाने के बाद  फिर उनमे विकास कार्य शरू किया जायेगा।

इस योजना की शरुआत मुख्य तोर पर 2015 और 2016 के विकास के लिए की गयी क्यों की इस समय वावो की हालात बहुत खराब हो शुकी है सरकार चाहती है आने बाले समय में गावो में रहने बाले लोगो को वहां रहने में कोई परेशानी न हो।

इस योजना में बेमेतरा, बलौदाबाजार और जांजगीर चांपा के चुने हुए ग्रामों के सर्वेक्षण के लिए गठित दलों के कर्मचारियों को एक दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया। इसमें एक कार्यक्रम भी आयोजित किया गया। इस योजना ठीक से चलने के लिए इन तीनों जिलों में सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग द्वारा योजना की मॉनिटरिंग के लिए प्रकोष्ठ का गठन भी किया जा चुका है।

प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना छत्तीसगढ़ के जांजगीर चांपा सहित तीन जिलों के एक सौ गांवों में जल्द शुरू होगी।

बेमेतरा जिले के 30, बलौदाबाजार के 40 तथा जांजगीर-चांपा के 30 गांवों को शामिल है। प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के अंतर्गत 50%  से अधिक अनुसूचित जातीय गांवों के सामाजिक एवं आर्थिक विकास के लिए वर्ष 2015 और 2016 में यह योजना लागू की जाएगी, योजना के तहत छत्तीसगढ़ के तीन जिलों के सौ गांवों को चुना गया है।

इस योजना का मुख्य उद्देश्य ग्रामो की स्थति को सुधारना है इससे की वहां के लोगो और भी ज्यादा तरकी कर सके।

 

One thought on “प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना की पूरी जानकारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *